04. जीवन यात्रा :  साधना के मूल तत्त्व - immagine di copertina
04. जीवन यात्रा :  साधना के मूल तत्त्व

04. जीवन यात्रा : साधना के मूल तत्त्व

जीवन यात्रा : साधना के मूल तत्त्व
साधना , साधक, साध्य और सिद्ध, ये चार शब्द , भारतीय परंपरा के मूल हैं ी हम सब साधना को जानने का अथक प्रयास करते हैं परन्तु साधक होने पर न तो ध्यान देते हैं न ही साधक बनाने का प्रयास. इसी कारण हमें विफलता हाथ लगाती हे
हमे पूर्व गुरुओ ने प्रारम्भ में इस बात पर बल दिया हे की हम साधक कैसे बने , साधना क्या हे और साध्य अर्थात हमारा उद्देस्य क्या हे.
सबसे पहले ज्ञान हे , ज्ञान विचार के द्वारा समझना होता हे I विचार सिद्धांतो के अनुसार करना होता हे, जिससे हमारा मन एक ... Maggiori informazioni